Automobile Short News

मोटरिंग के लिए भारत का चौथा सबसे खतरनाक शहर है बेंगलुरू, जानिए कैसे?

मोटरिंग के लिए भारत का चौथा सबसे खतरनाक शहर है बेंगलुरू, जानिए कैसे?

एएफपी के हवाले से बताया कि इस साल बेंगलुरू की सड़कों पर नेविगेट करने वाले करीब 500 लोगों की मौत हो गई है, जिसके यह शहर भारत में यात्री वाहन चालकों के लिए चौथा सबसे घातक शहर बन गया है।

अगर इन उपायों पर हो विचार तो ट्रैफिक और पोल्यूशन का निकल सकता है सोल्यूशन

अगर इन उपायों पर हो विचार तो ट्रैफिक और पोल्यूशन का निकल सकता है सोल्यूशन

हकीकत देखी जाए आज हालात यह है कि दिल्ली में मेट्रो से सस्ती खुद की कार से यात्रा पड रही है तो हर आदमी दूसरे की देखा देखी पैसे की बचत और आराम हेतु खुद की गाड़ी प्रयोग करता है बेशक वो ट्रैफिक जाम का हिस्सा बनता है और गाहे बगाहे यह गाड़ियों की भीड़ प्रदुषण की 70%जिम्मेदार है ।

ऑड-इवेन का होने वाला है आगाज, बाइक सवारों को भी नहीं मिलेगी छूट

ऑड-इवेन का होने वाला है आगाज, बाइक सवारों को भी नहीं मिलेगी छूट

पिछली बार दिल्ली के ऑड-इवेन में मोटरसाइकिल्स को विशेष छूट दी गई थी लेकिन इस बार माना जा रहा है कि मोटरसाइकिल भी ऑड-इवेन के हिसाब से चला करेंगे। ऐसे में प्रदुषण का स्तर कितना कम होगा यह तो नहीं कहा जा सकता है लेकिन लोगों को दोहरी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

34 हजार किमी सड़कों का जाल बिछाएगी सरकार, भारतमाला प्रोजेक्ट बनेगा आधार

34 हजार किमी सड़कों का जाल बिछाएगी सरकार, भारतमाला प्रोजेक्ट बनेगा आधार

भारत की वर्तमान केन्द्र सरकार प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत देश में 34,000 किमी सड़कों का जाल बिछाने जा रही है। जानकारी के मुताबिक भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत भारत सरकार ने 7 फेज में 34,800 किलोमीटर सड़कें बनाने का फैसला लिया है।